देशपर कुर्बान हुए शहीदों को श्रद्धांजलि

ये जो छुप कर वार करते हो तुम
ये तुम्हारी कायरता का प्रतीत हैं,
कैसे बताओगे बच्चो को अपने
की कायरता हमारा अतीत हैं।

हर माफ़ी के बाद भी
तुम अपनी औकात दिखाते हो
हम चुप रहें ये तुम्हे मंज़ूर कहा
Surgical Stike. जैसे तुम खुद हालात बनाते हो ।

मेरे मिट्टी के 44, जवान आज फिर मिट्टी के नाम हो गए
तेरी इन करतूतों से गुस्से में सारी अवाम हो गई ।

अब कौन बख़्शे तुझे
किस से तुम उम्मीद करोगे
मां, बेटी, बाप, भाई
हर किसी से विच्छेद सहोगे।

बेटा हो गया शहीद जिसका
वो मां भी कहा सोई है ,
प्यार के दिन ही खो दिया पति अपना
वो पत्नी रात भर रोई है ।

बेटे के चिता के पास
खड़ा बाप कितना बिलखता हैं ,
बहन को कौन संभाले उसकी
वो शहीद सबको आज फरिश्ता है ।

बहुत चुप रह लिए
अब हम आवाज उठाएंगे
तिरंगे की ताकत क्या है
उनको भी दिखाएंगे ।

Jai hind jai bharat

कारगिल विजय दिवस

सभी देशवासियों को “कारगिल विजय दिवस” की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ अमर शहीदों के चरणों में कोटि कोटि प्रणाम !!

जरा याद उन्हें भी कर लो,
जो लौट के घर न आये…..!!!!

26 जुलाई 1999 का दिन भारतवर्ष के लिए एक ऐसा गौरव लेकर आया, जब हमने सम्पूर्ण विश्व के सामने अपनी विजय का बिगुल बजाया था. इस दिन भारतीय सेना ने कारगिल युद्ध के दौरान चलाए गए ‘ऑपरेशन विजय’ को सफलतापूर्वक अंजाम देकर भारत भूमि को घुसपैठियों के चंगुल से मुक्तकराया था. इसी की याद में ‘26 जुलाई’ अब हर वर्ष “कारगिल विजय दिवस” के रूप में मनाया जाताहै.|

दिल में हौसलों का तेज और, तूफ़ान लिए फिरते है |
आसमां से उंची हम अपनी, उड़ान लिए फिरते है ||
वक्त क्या आजमाएगा, हमारे जोश और जूनून को,
हम तो मुठ्ठी में अपनी , जान लिए फिरते हैं ||

हमसे महफूज़ सरहदे है, हमसे रोशन ये चमन |
हमसे खुशियों कि बारातें, और कायम चैनो अमन ||
हम वतन के पहरेदार… दुश्मनों के लिए दीवार ….
सर पे कफ़न होंठों पे भवानी, नाम लिए फिरते है,
हम तो मुठ्ठी में अपनी , जान लिए फिरते हैं |

हमारी वतनपरस्ती, चंद रुपयों की मोहताज नहीं |
खरीद सके जो ईमान को, कोई ऐसा तख्तो ताज नहीं ||
हम भारत माँ के वीर सपूत… सैन्य शक्ति के अग्रदूत….
अपनी बन्दूको में दुश्मनों का, अंजाम लिए फिरते है,
हम तो मुठ्ठी में अपनी , जान लिए फिरते हैं ||

मात देते अपने साहस से, दुश्मन की हरेक चाल को |
तिलक करते अपने लहू से, भारत माँ के भाल को ||
है अदम्य साहस का प्रकाश…नहीं किसी तमगे की आस,
अपनी शहादत पर भी सैकडों, सलाम लिए फिरते हैं,
हम तो मुठ्ठी में अपनी , जान लिए फिरते हैं ||

#Nilesh

Bhahut yaad aata hai ( Hindi Shayari)

Bhahut yaad aata hai,
wo tera muskurana,muskurake yun palken jhukaana,
Fir ek aada se yun sharma jana.
Bhahut yaad aata hai,
Baat karte huae tera hansna or bas haste chale jana,
Mere dil ko bada sakun deta tha tera yun baaten karte chale jana,
Bhahut yaad aata hai,
Tere aane se pehle he ho jata tha ehsaas tere aane ka,
Fir samne aate he tera wo mujse najren milana,
Bhahut yaad aata hai,
Jab bhi dekhti thi tu yun mud mud k mujhe,
Meri khusi ka rehta nahin tha koi dhikana,
Bhahut yaad aata hai,
Wo tera baaaten kisi or se karte huae ishaara mujhe kar jaana,
Yun mujhe baar baar dekh k tere wo mujhe tadpana,
Bhahut yaad aata hai,
Tere jaane k waqt tera wo mayus ho kar mujse kuch keh jana,
Or mera haste huae tujhe bye kehna fir najren ek tak khidki pe lagana,
Bhahut yaad aata hai,
Kabhi agar mein na milun din bhar k intezar k baad tujhe,
To Agle din tera wo isharon isharon mein aapne gusse ka ehsaas karwana,
Bhahut yaad aata hai,
Tere pichhe aana or tera sadak par chalte huae mujhe dekh kar yun ruk jana,
Fir saath chalte chalte baaten karte huae tujhe ghar tak chood k aana,
Bhahut yaad aata hai.

#Nilesh

Motivational Hindi Shayri By Aman Chaurasia

Aman1.जब समय खराब चल रहा हो ना
तब गूंगे भी बोलने लगते है…

2.आजकल हर कोई अपना बनता है पर सिर्फ बातों से…

3.किसी को इतना भी दुख ना दे
की वो भगवान के सामने
आपका नाम लेते हुए
रोने लगे.

4.अच्छे दिन तो तब आयेँगे जब लोग…
मिठाई खिलाते हुए कहेँगे हमारे घर बेटी हुई है..!!
🙏🙏🙏

5.“जो होता है अच्छे के लिए होता है”
ये लाइन मजह एक आध्यात्मिक बात ही है।

6.रिश्तों की खूबसूरती एक दूसरे की बात बर्दाश्त करने में है
खुद जैसा इंसान तलाश करोगे तो अकेले रह जाओगे●

7.मेरी ना सही मेरी सलिखे को तो दाद दे …
तेरा ही जिक्र करता हु बगैर तेरे नाम का..❣

8.दुआएँ जमा करने में लग जाओ साहब…
खबर पक्की है
“दौलत और शोहरत” साथ नहीं जायेंगे…

9.किसी की पसंद बनना जरूरी तो नही..
पर किसी को पसंद करना ये आपके दिल पर है..

10.देखा करो कभी अपनी माँ की आँखों में,
ये वो आईना है जिसमें बच्चे कभी बूढ़े नहीं होते…! !

#Aman

Breakup Shayri

1.Mana Ki Dooriya Kuch Badh Se Gyi Hai,
Lekin Tere Hisse Ka Waqt Aaj Bhi Tanha Hi Gujarta Hai.

2.Tumhari Jagah Aaj Bhi Koi Nhi Le Sakta,
Pata Nahi Wajah Tumhari Khubi Hai Ya Meri Kami.

3.Meri Barbaad Zndgi Ki Sazaa Tum Ho,
Mar Mar Ke Ji Rahe Hain Wajah Tum Ho…!!

4.Bahut Zaroori Hai In Ansuon Ka Behna Bhi,
Kisi Ke Dard Ka Sadka Nikalta Rehta Hai.

5.Ab Koi Fark Nahi Padta
Khwaishe Adhoori Rehne Par
Maine Bahut Kareeb Se Dekha
Hai Khud Ko Toot Te Hue…!!

6.Nadaani Me Hum Kise Apna Samajh Baithe,
Jo Dikhaya Us Bewfa Ne Sapna Use Hum
Haqikat Samajh Baithe, Dekho Aaj
Chod Diya Hame Kisi Gair Ke Liye,
Jise Hum Apna Hum Suffar Samajh Baithe.

7.Ye Alag Baat Ab Koi Rishta Nahi,
Pyar Se Kyu Magar Dekhna Chod Du,
Meri Kismat Me Shayed Nahi Tu Sanam,
Kya Khuda Se Tujhe Mangna Chod Du!

#Nilesh

सुर्ख गुलाब सी तुम हो, Romantic Shayri

सुर्ख गुलाब सी तुम हो,
जिन्दगी के बहाव सी तुम हो,
हर कोई पढ़ने को बेकरार,
पढ़ने वाली किताब सी तुम हो।

तुम्हीं हो फगवां की सर्द हवा,
मौसम की पहली बरसात सी तुम हो,
समन्दर से भी गहरी,
आशिकों के ख्वाब सी तुम हो।

रहनुमा हो जमाने की,
जीने के अन्दाज सी तुम हो,
नजर हैं कातिलाना,
बोतलों में बन्द शराब सी तुम हो।

गुनगुनी धुप हो शीत की,
तपती घूप मैं छाँव सी तुम हो,
आरती का दीप हो,
भक्ति के आर्शीवाद सी तुम हों।

ता उम्र लिखता रहे निलेश
हर सवाल के जवाब सी तुम हो।

Nilesh kumar

Happy Republic Day, Shayri Hindi

ज़माने भर में मिलते है आशिक़ कई,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता,
नोटों में लिपट कर, सोने में सिमट कर मरे है कई,
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता.!