आज सालो बाद

आज सालो बाद,
मां ने सर पे हाथ रख बेड से उठाते ही कहां परेशान हो, नींद क्यू नहीं आतीं, कोई टेंशन हैं ।
सालो बाद फिर वही मंज़र लौट रहा है, फ़िर अपनी वजह से मै अपनी मां को परेशान कर रहा हूं ।😊

जितनी रातें तुम जाग कर बिताते हो,
वो सब की सब, तुम्हारे आंखों के नीचे इकठ्ठा हो जाती हैं ।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s