Jodha Akbar or meri feelings

साल 2013 serial name जोधा अकबर .
Watching Zee TV.
यह कोई सीरियल नहीं है इससे जुड़ी कई कहानी, फीलिंग्स है मेरी।
यह सीरियल ज़ी टीवी पर सैटरडे और संडे छोड़कर सोमवार से शुक्रवार 8:00 बजे रात में प्रसारित होते थीं ।

बात यह नहीं है कि सीरियल अच्छा है या बुरा , मेरे एक दोस्त को ये सीरियल बहुत पसंद है, टीवी देखना पसंद नहीं था पर रोज कुछ भी काम है चाहे हम कुछ खेल ही रहे हो सब कुछ छोड़ कर 8:00 बजे से 10:00 मिनट 15 मिनट पहले ही टीवी के सामने बैठ जाना होता था,  हम दोनों साथ में टीवी देखते थे , इस सीरियल की episode आधे घण्टे की होती थी , और ये सीरियल हमने तब तक देखी जब तक खतम न हो गई , बीच में 1 मंथ मैंने यह सीरियल नहीं देखा क्योंकि मैं आगरा चला गया था , पर मेरा दोस्त मुझे रोज इसकी कहानी सुनाता था कॉल पर तो मेरे लिए  यह एक सिर्फ सीरियल नहीं था, मेरे और मेरे दोस्त के बीच की एक बोंडिंग थी, उस आधे दिन के टाइम में हम एक साथ चिपक कर बैठते थे, साथ में खाना खाते थे , जो शायद इस सीरियल के खत्म होने के बाद खत्म हो गया ।
अब भी वो मेरा दोस्त और अच्छा दोस्त है पर अब वो साथ में बैठ कर टीवी देखना , एक साथ हसना , किसी भावुक सींस देख कर साथ रोना, किसी सींस को देख कर झगड़ा करना , किसी बात पे नोक छोक।
बहुत याद आता है ।
ओ मेरे घर के पास ही रहता है , अभी भी यह सीरियल दूसरे चैनल पर देती है, पर मुझ में हिम्मत न रही की मै उसे बोलू विनय आओ साथ में बैठ कर जोधा अकबर देखते है।
कुछ यादें वक्त के साथ भी खतम नहीं होती ।।

Advertisement

3 thoughts on “Jodha Akbar or meri feelings

  1. नीलेश, तुम्हारा यह सीरियल देखने के साथ साथ , दोस्ती का वो जो अनुभव है न,उसकी यादगार ही सदाबहार है। 👌👌👌💟👏👏👏👏✌

    Liked by 1 person

  2. Bonjour ou bonsoir mon ami
    Bonjour mon amie ami
    Je pense que cette journée sera illuminée de soleil
    Je viens te souhaiter une belle journée
    Sous une mélodie chanter par les oiseaux
    https://i.postimg.cc/ydQSFVdJ/oiseaux.jpg
    Journée de bonheur ou rien ne viendra te perturber
    Cette journée sera de beauté
    Bonsoir Amie AMI
    https://i.postimg.cc/hjfVZJN8/fleurs.jpg
    Pour cette nuit
    Je te souhaite une nuit de repos bien méritée
    Remplit de rèves flatteurs
    Des rèves que toi seule à le secret de bien gardé
    Sache que certains reves peuvent devenir réalité
    Que cette journée et soirée te soit des plus agréables
    Bisous amicales Bernard

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s