तेरा प्यार ( Yu badal jana )

ये कहानी मैने 2 साल पहले लिखी थी , असल में ये कोई कहानी नहीं है . ये कुछ यादे है . जो एक खास दिन मेरे साथ घटी थी . जब मैं किसी के साथ प्यार में था . जब उसने मेरे लिए पहली बार करवा चौथ का व्रत रखा था . मुझे याद है मैने ये लाइन उसके याद में लिखी थी . ताकी उस दिन को मैं हमेशा अपने साथ रख सकु. ये यादे मेरे लिए बहुत खास है , और शायद ही मैं इन्हे कभी भुल पाऊ . ये कोई कबिता , शायरी , या न्जम नहीं है . शायद ये लोगो को कोई जोक लगे . पर ये लाइन मेरे दिल को बहुत आजीज है. मैं जब भी इनको पड़ता हु , एक अलग ही अहसाश होता है . मुझे ऐसा lgta है. जैसे फिर से सब मेरे सामने हो रहा है. और मैं चुप चाप बैठा देख रहा हु. इनको पढते वक्त मेरे आँखो में आसु और चहरे pr मुस्कां अा जाती है. ये अजीब सी फीलिंग है. जो मैं शब्दों में बायां नहीं कर सकता . पर अब मैं इन्हे आप सबको बातना चाहता हु. ताकी मेरी ज़िन्दगी का आखरी वक्त हो मरने से पहले एक बार किसी से पढवा कर , सून कर उस दिन को एक बार फिर से जीना चाहता हु..

कहानी .
बात ज्यादा पुरानी नहीं है.. साल – 2015 , Date – 30 October , दिन – Friday . ( करवा चौथ का दिन )
कल करवा चौथ की रात थी. कल मेरी जान ने मेरी लम्बी उम्र की दुआ के लिए कठिन करवा चौथ का व्रत उठाया था . ये सून कर मेरा दिल ख़ुशी से भर आया था. आज मैने उससे कहा मेरी जान मेरी लम्बी उम्र तेरी सेहत से ज्यादा ज़रूरी नहीं है . तो उसने कहा ज्यादा बकवास मत कर , कल का दिन भुखे प्यासे बड़ी मुश्किल से बिताया था . कल रात उसने मुझसे कहा जानु व्रत खोलने का कोई तारिका तो bta दो . मैने kha मैं क्या करू मेरी जान तू रहती इतनी दूर है. मैं कैसे अौ तेरे पास तू ही समझा दे. उसने मुझसे kha जानु मैं तुम्हे बिना देखे व्रत नहीं खोल सकती , ये रीवाज है इस व्रत का .. तुम समझो मेरी मजबूरी को , मैं इससे पाक रिवाज को नहीं तोर सकती . मैने कहा खाना कहा लो मेरी जान, मेरा भी भुख से bura हाल है , मैने भी तेरे लिए पूरे दिन से भुखा प्यासा हु .
आज खेलने गया था मैं Cricket मैच , भुख के मारे मेरे हाथ भी नहीं उठ रहा था. बस कुछ ही बौल मारी थी. किसी तरह दोस्तों से बहुत तेज सर दर्द का बहाना बना कर घर आया था. मैने तेरे लिए व्रत रखा है, ये शर्म के मारे उन्हे bta भी नहीं सकता था.

मैने कहा तु चिंता न कर मेरी जान , मैं अभी Latest Photo Facebook पे Upload करता हु. उसे देख कर अपना व्रत खोल ले. मैं तुमसे तहे दिल से फरियाद करता हु..
उसने कहा ठीक है. जल्दी कर मैं Photo Upload होने का इंतेजार कर रही हु. तब तक सून लो मेरे जानु मैं तुमसे बहुत प्यार करती हु. अपनी जान से भी ज्यादा प्यार करती हु..

मैने photo upload कर दी. उसने फोटो देख कर अपना व्रत खोल लिया , व्रत खोलने की खबर सून कर मैने नहीं एक ग्लास पानी पी लिया .
उसने मुझसे कहा , कहा निकल लिए ज़नाब कोई Gift तो दिया ही नहीं. मैने कहा जान मैं तुम्हे फुल ही दे सकता हु. इस समय मेरे पास पैसे की बहुत कमी है. मैने कहा मेरे साथ आपके ज़िन्दगी में अंधेरे ही अंधेरे है. जबकी तुम्हारे पास पेहले से ही रोशनी है.. उसने मुझसे कहा जानु ये फुल नहीं हमारे मोहब्बत की चिराग है . और रहा सवाल पैसे का तो तेरा साथ hi मेरे लिए काफी है. अब और कुछ मत कहना . बस तु मेरे हो..
मैने कहा कसम खाता हु मैं आज अपने मोहब्बत की मैं तेरे काबिल खुद को बनाऊंगा .
I Love You .. Meri Jaan..

ये कहानी थी 2015 की .. वक्त के साथ बहुत कुछ बदले ज़िनहे न बादलना चाहिए ओ भी बदले , क्यु बदले पता नहीं .

फिर एक Time आया 22 February – 2016 din – Monday .
और फिर ओ प्यारी बाते सिर्फ बाते रह गई . इस दिन के बाद मेरी जान का मैं जानु अब जानु न रहा . इस दिन क्या हुआ ओ तो मैं नहीं बता सकता .. बस इतना कहूँगा मेरी जान ने इस दिन ही मुझे आखरी प्यार भरा Call किया था . कुछ बाते हुई थी.. उनके साथ जो हमे ओ बाताना नहीं चाहती थी…
और फिर आखरी शब्द ,

I Love You. Jaanu.
मैं तुमसे हमेशा प्यार करती हु. और करती रहुंगी चाहे मैं jha भी रहु .

और मैं चुप चाप शुनता रहा. . मैं उन्हे ठीक से I Love You To Jaan भी न बोल पाया ..

और बस यही है..

Nilesh

mai bhi jala tha.. unke Sang

My Instagram Account

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s