Bewafa

1.तुमको समझाता हूँ इसलिए ए दोस्त
क्योंकि सबको ही आज़मा चुका हूँ मैं
कहीं तुमको भी पछताना ना पड़े यहाँ
कई हसीनों से धोखा खा चुका हूँ मैं।

2.हमको खबर भी होने नही दी
किस मोड़ पर लाकर दिल तुने तोड़ा
अपना बनाना रहा दूर तुने
औरो के हो जाए ,ऐसा ना छोड़ा.

3.Dil Tadapta Rha or Wo Jane Lage,
Sang Guzre Lamhe Yaad Aane Lage,
Khamosh Nazro Se Dekha Jo Usne Mud Kr,
Toh Bhigi Palko Se Hum Bhi Muskurane Lage.

4.Teri Yaado Me Roj Rota Hu Subha Hoti Hai
Tab Me Sota Hu Ab Mughe Din Ki Khabar Hai
Na Raat Ki AeBewafa Teri YaaDo Me
Is Tarha Khota Hu…!

5.मोहब्बत का कोई एहसास अब सच्चा नही लगता.
में उसको भूल जाऊंगा मुझे ऐसा नही लगता.
मुझे उससे मोहब्बत तो नही है फिर भी जाने क्यों.
उसे देखू किसी के साथ तो अच्छा नही लगता.

6.दर्द से हम अब खेलना सीख गए;
बेवफाई के साथ अब हम जीना सीख गए;
क्या बतायें किस कदर दिल टूटा है हमारा;
मौत से पहले हम कफ़न ओढ़ कर सोना सीख गए।

7.नजर नजर से मिलेगी तो सर झुका लेगा,
वह बेवफा है मेरा इम्तिहान क्या लेगा,
उसे चिराग जलाने को मत कह देना,
वह नासमझ है कहीं उंगलियां जला लेगा।

8.बेवज़ह बिछड तो गये हो….
बस इतना बता दो…
कि.. सुकून मिला या नहीं…??

9.Usne Mujse Kaha K Mujhe Bhool Jao,
Maine Tume Dil Se Nikal Diya Hai,
Bas… Sukoon Sa Mil Gaya Ye Sunkar,
Ki Kabhi To Uss Ke Dil Me The Hum.

10.Woh Bhi Din Tha Ek Pal Na Guzarta Tha Unka
Hamare Siwa.
Yeh Bhi Din Hai Ek Pal Nahi Milta Unhe Hamare
Liye…

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s