Featured

Nilesh shayri.

 

fb_img_15028748945881843297071.jpg

इस Website पे आपको बेहतरीन शायरी मिलेगी

Humare Website pe Aane ke liye ..

     Thank you so much

Nilesh kumar

Advertisements

और उसकी याद आई

आज बारिश की बूंदे पड़ी और उसकी याद आई ,
लो फिर से शाम ढली और उसकी याद आई ।

किसी ने चुपके से आ के
हमे यु थाम लिया ,
नजर – नजर से मिली और उसकी याद आई ।
ज़रा से होंठ हिले थे कि
आंसू बह निकले,
फिर एक चुप्पी सी लगी और उसकी याद आई ।

किसी की बातों की बारिश में
हम भी भिंग गए ,
किसी ने बात ना कि और उसकी याद आई ।

बलात्कारियो का बलात्कार, अब क्यों ना हो?

👇बलात्कारियो का बलात्कार, अब क्यों ना हो?👇

हवस मिटाने के लिए जो जाल बिछाये रखते है
उन हब्शियो की हवस का ईलाज,अब क्यों ना हो?
कब तक लूटते रहेंगे दरिंदे इज्ज़त-ए-आबरू
बलात्कारियो का बलात्कार, अब क्यों ना हो?

नज़रो से नोच डालते है जिस्मो को जो अंदर तक
उन आँखों में दहकते अँगारे, अब क्यों ना हो?
जिन हाथो से करते है इज्ज़त नंगी मासूमों की
उन हाथो में जख्म गहरे, अब क्यों न हो ?

फैंककर तेज़ाब जिस्मो पर जो बहादुरी दिखाते है
उनके जिस्मो को भी एहसास इस दर्द का, अब क्यों ना हो ?
तारीख़ पर तारीख कब तक मिलेगी अदालतों से हमे
इस मुद्दे की मोके पर सुनवाई, अब क्यों ना हो?

मुँह उठायें कब तक देखोगे सरकारों की तरफ
खुद की हिफाज़त खुद करने का प्रण,अब क्यों न हो?
कितनी देर रहोगी बनकर अबला कमजोर सी तुम,
तेरे पास भी रानी लक्ष्मीबाई सा फौलादी हौसला, अब क्यों ना हो?

क्यों जियें ख़ौफ़ में बेटियां या माँ-बाप उनके
“Nilesh” अँधेरी गलियां भी बेख़ौफ़, अब क्यों ना हो?
हे खुदा ! शुद्धता अदा कर सोच में सबकी
हर नारी का दिल से सम्मान, अब क्यों ना हो ?

#Nilesh

ससुराल से मायका

ससुराल से मायका

रौनक थी जिनसे जिन्दगी में वो सब खो गई
शादी करके पिया जी तो मिले पर सहेलियाँ खो गई

जिम्मेदारियां बढ़ गई,नादान से समझदार हो गई,
बचपन की यादें, सखियों संग बातें , किशोरीपन की सारी चंचलता खो गई

नया घर, नए लोग नई दुनिया मिल गई
माँ का प्यार, पिता का दुलार, भाई की शरारते खो गई

घर गृहस्थी में जिन्दगी सुबह से शाम व्यस्त हो गई
वो हर बात पे रूठना वो बेवजह की चिल्लाहट खो गई

जीन्स में रहने वाली साड़ी पहनना सीख गई
वो चंचल सी शोखी घूंघट में कहीं खो गई

सपनो का राजकुमार, रोमांटिक राते तो मिल गई
वो बाबुल का आँगन,बेफिक्री की नींद खो गई

सब्जी भाजी का भाव करना,पैसे बचाकर घर चलना सीख गई
बेवजह के ख़र्चे, बेवजह की शॉपिंग करने वाली खो गईं

एक घर से पराई हुई और एक की अपनी हो गई
“निलेश” चीज़ें और भी बहुत मिली और बहुत सी खो गई ..!

वो ज़िस्म का भुखा मोहब्बत के लिबास में मिला था .!

वो ज़िस्म का भुखा मोहब्बत के लिबास में मिला था,
पहचानती कैसे उसे चेहरे पर चेहरा लगा कर मिला था .!

क्या पता था दर्द उम्र भर का देगा
वो दरिंदा बड़ा मासुम बन कर मिला था

पहली मुलाकत पर ही दिल में उतार गया था
वो मुझे पूरी तय़ारी के साथ मिला था

देखते देखते वो मेरा हमराज बन गया
कि हर दफा मुझे वो यकीन बन कर मिला था

माँ बाप से छुप कर उसको मिलने लगी थी
वो मुझे मेरा इश्क जो बन कर मिला था

हल्की सी मुस्कान लेकर वो मुझे छूता रहता था
वो हवसी मेरी हवस को जगाने की कोशिश करता था

वक़्त के साथ उसके इश्क का नशा मेरे सिर चढ़ने लगा था
मेरा भी ज़िस्म उसके ज़िस्म से मिलने को तरसने लगा था

मुझे इश्क के नशे में देख उसने मेरे ज़िस्म से वस्त्र को अलग किया था
जिस काम की वो तलाश में था उसे वो काम करने का मोका मिला था

टूट पडा था वो मुझ पर, हवस में दर्द की सारी हद पार कर गया था
उस रात वो पहली बार मुझे चेहरा उतार कर अपने आसली रंग में मिला था

हवस मिटा कर अपनी उसने मुझे जमीन पर गिराया था
दिल की रानी कहता था जो उसने तवायफ कह बुलाया था

मोहब्बत उसे थी ही नहीं ज़िस्म को पाने के लिए उसने नाटक किया था
मेरे प्यार मेरी मासूमियत के साथ खेल खेला था

फिर मुझे छोड कर पता नहीं कहा चला गया
मोहब्बत की आड़ में शायद किसी ओर को तवायफ बनाने गया था

कितना वक़्त गुजर गया जख्म रूह के अब भी हरे है
सोचती हु मोहब्बत के राह में क्यों इतने धोखे है
हर मोड़ पर क्यों खडे जिस्मो के आशिक है

खुद को किसी पर सोपने से पहले
थोड़ा सोच लेना…
कही वो शिकारी जिस्मो का तो नहीं
तुम थोड़ी जाच कर लेना

अब कभी खुद को तो कभी मोहब्बत तो कभी उसको कोशती रहती हु
हे किस्मत मेरे साथ तेरा क्या गिला था,
वो आखरी वार मुझे बिस्तर पर मिला था.!

#Nilesh

Har har mahadev hindi Shayari 2018

1 . कर्ता करे न कर सकै,शिव करै सो होय। तीन लोक नौ खंड में,महादेव से बड़ा न कोय…🌺🌺 जय श्री महादेव🌺🌺

2. जख्म भी भर जायेगे, चेहरे भी बदल जायेगे, तू करना याद महादेव को तुझे दिल आैर दिमाग मे सिर्फ आैर सिर्फ महाकाल नजर आयेगे… हर हर महादेव

3. काल का भी उस पर क्या आघात हो …. जिस बंदे पर महादेव का हाथ हो..!!

4. कैसे कह दूँ कि मेरी, हर दुआ बेअसर हो गई…. मैं जब जब भी रोया, मेरे महादेव को खबर हो गई ।

5. मेरे महादेव कहते हैं कि मत सोच तेरा सपना पूरा होगा या नहीं होगा…क्योंकि जिसके कर्म अच्छे होते हैं उनकी तो मैं भी मदद करता हूँ…

6. दिखावे की मोहब्बत से दूर रहता हूँ मैं….. इसलिए महादेव के नशे मे चूर रहता हू मैं !!हर हर महादेव 🙏🙏🙏

7. ना पूछो मुझसे मेरी पहचान …. मैं तो भस्मधारी हूँ … भस्म से होता जिनका श्रृंगार मैं उस महादेव का पुजारी हूँ …. हर हर महादेव 🙏🙏🙏

8. शिव शंकर को जिसने पूजा उसका ही उद्धार हुआ…. अंत काल को भवसागर में उसका बेड़ा पार हुआ …. भोले शंकर की पूजा करो , ध्यान चरणों में इनके धरो। .. हर हर महादेव शिव शम्बू

9. मेरे महादेव तुम्हारे बिना मैं शून्य हूँ ….. तुम साथ हो महाकाल तो में अनंत हूँ … जय श्री त्रिकालनाथ महाकाल….

10. तन की जाने, मन की जाने, जाने चित की चोरी उस महादेव से क्या छिपावे जिसके हाथ है सब की डोरी 🌺🌺 जय श्री महाकाल 🌺🌺

11. खुशबु आ रही है कहीँ से गांजे और भांग की !!! शायद खिड़की खुली रह गयी है ‘ मेरे महांकाल’ के दरबार की…!!…’ हर हर महादेव ‘… जो अमृत पीते हैं उन्हें देव कहते हैं,और जो विष पीते हैं उन्हें देवों के देव “महादेव” कहते हैं … !!!

12. चिंता नहीं हैं#काल की…बस #कृपा बनी रहे #महाकाल की…??

13. हे_मेरे_महादेव…#तुम्हारे होगेंचाहने वाले बहुत इस #कायनात में, मगर इस #पागलकी तो कायनात ही “तुम” हो ??जय श्री महाकाल?

14. शमशान की राख देख #मन मेंएक ख्याल आया* *सिर्फ #राख होने के लिए हरइंसान #ज़िन्दजी में कितनी बार जलता है |

15 .दुनिया पर किया गया भरोसा तो टूट सकता है…. लेकिन दुनिया के मालिक महादेव पर किया गया भरोसा कभी नहीं टूटता है…
# हर_हर_महादेव #ॐ_नमः_शिवाय् #जय_श्री_महाकाल